Raat Ne Kesu Bikhraye, Song Lyrics

Raat Ne Kesu Bikhraye Song Lyrics

Raat Ne Kesu Bikhraye, Song Lyrics from Movie Sapera. This Song sung by Manna Dey, Suman Kalyanpur, Prabhakar Rege. Music given by Ajit Merchant & Lyrics written by Indeevar. Star cast of this movie are Ranjan, Jyoti Tiwari, Sunder, Jeevan Kala, Rajan Kapoor, Shetty

Movie Details

Movie: Sapera

Singer/Singers: Manna Dey, Suman Kalyanpur, Prabhakar Rege

Music Director: Ajit Merchant

Lyricist: Indeevar

Actors/Actresses: Ranjan, Jyoti Tiwari, Sunder, Jeevan Kala, Rajan Kapoor, Shetty

Year/Decade: 1961

Music Label: Saregama Music

Song Lyrics in English Text

Rat Ne Keshu Bikhraye Mera Dil Mujhko Tadpaye
Kisne China Hai Bolo Mere Chand Ko
Kisne China Hai Bolo Mere Chand Ka
Mana Badlo Ne Ghera Ye To Sada Rahega Tera
Kaun Chinega Tujhse Tere Chand Ko
Kaun Chinega Tujhse Tere Chand Ko

Kaise Ye Dil Sah Payega Tumse Itni Duri
Marzi Meri Samjh Na Lena Ye To Majburi
Bujhne Laga Hai Dil Me Andhera
Bujhne Laga Hai Dil Me Andhera
Rah Gayi Preet Adhuri
Kisne China Hai Bolo Mere Chand Ko
Mana Badlo Ne Ghera Ye To Sada Rahega Tera
Kaun Chinega Tujhse Tere Chand Ko

Pyar Ka Kisne Kiya Na Wada Kasam Na Kisne Khai
Kiski Khata Thi Tab Hoti Hai Jab Hoti Hai Judai
Yaki Nahi Jin Ko Auro Par Yaki Nahi Jin Ko Auro Par
Wo Hai Khud Harjai Kaun Chinega Tujhse Tere Chand Ko
Kaun Chinega Tujhse Tere Chand Ko
Rat Ne Keshu Bikhraye Mera Dil Mujhko Tadpaye
Kisne China Hai Bolo Mere Chand Ko
Kaun Chinega Tujhse Tere Chand Ko
Kisne China Hai Bolo Mere Chand Ko

Song Lyrics in Hindi Text

रात ने गेसू बिखराए
मेरा दिल मुझको तड़पाये
किसने छीना है बोलो
मेरे चाँद को
किसने छीना है बोलो
मेरे चाँद का

मन बादलों ने घेरा
यह तो सदा रहेगा तेरा
कौन छीनेगा तुझसे
तेरे चाँद को
कौन छीनेगा तुझसे
तेरे चाँद को

कैसे यह दिल सह पायेगा
तुमसे इतनी दुरी
मर्ज़ी मेरी समझ न लेना
यह तो मज़बूरी
बुझने लगा है
दिल में अँधेरा
बुझने लगा है
दिल में अँधेरा
रह गयी प्रीत अधूरी
किसने छीना है बोलो
मेरे चाँद को
किसने छीना है बोलो
मेरे चाँद को
मन बादलों ने घेरा
यह तो सदा रहेगा तेरा
कौन छीनेगा तुझसे
तेरे चाँद को
कौन छीनेगा तुझसे
तेरे चाँद को

प्यार का किसने किया न वडा
कसम न किसने खाई
किसकी कसौटी तब होती है
जब होती है जुदाई
यकीं नहीं जिन को औरों पर
यकीं नहीं जिन को औरों पर
वो है खुद हरजाई
कौन छीनेगा तुझसे
तेरे चाँद को
कौन छीनेगा तुझसे
तेरे चाँद को

रात ने गेसू बिखराए
मेरा दिल मुझको तड़पाये
किसने छीना है
बोलो मेरे चाँद को
किसने छीना है
बोलो मेरे चाँद को
कौन छीनेगा तुझसे
तेरे चाँद को
कौन छीनेगा तुझसे
तेरे चाँद को
किसने छीना है बोलो
मेरे चाँद का
किसने छीना है बोलो
मेरे चाँद का.