Ranjish Hi Sahi Lyrics in Hindi

Ranjish Hi Sahi is a beautiful Ghazal by famous Ghazal singer Mehdi Hassan. This Ghazal is taken from his album The Finest Ghazals of Mehdi Hassan.

Movie Details

Singer/Singers: Mehdi Hassan

Music Director: Nisar Bazmi

Lyricist: Ahmed Faraz-Talib Baghpati

Year/Decade: N/A

Music Label: N/A

Song Lyrics in English Text

Ranjish hi sahi dil hi dukhane ke liye aa
aa phir se mujhe chhod ke jaane ke liye aa.

Pahale se maraasim na sahii phir bhi kabhi tou
rasm-o-rahe duniya hi nibhane ke liye aa.

Kis kis ko batayenge judaai ka sabab ham
tu mujhse khafaa hai tou zamaane ke liye aa.

Kuch tou mere pindaar-e-mohabbat ka bharam rakh
Tu bhi to kabhi mujh ko manaane ke liye aa.

Ek umr se hoon lazzat-e-giriyaa se bhi maharuum
Aye raahat-e-jaan mujh ko rulaane ke liye aa.

Ab tak dil-e-khushfeham ko tujh se hain ummiden
Ye aakharii shammen bhi bujhaane ke liye aa

Song Lyrics in Hindi Text

रंजिश ही सही दिल ही दुखाने के लिए आ
आ फिर से मुझे छोड़ के जाने के लिये आ

अब तक दिल-ए-खुशफ़हम को हैं तुझ से उम्मीदें
ये आखिरी शम्में भी बुझाने के लिये आ
रंजिश ही सही…

इक उम्र से हूँ लज्ज़त-ए-गिरया से भी महरूम
ऐ राहत-ए-जां मुझको रुलाने के लिये आ
रंजिश ही सही…

कुछ तो मेरे पिन्दार-ए-मोहब्बत का भरम रख
तू भी तो कभी मुझ को मनाने के लिये आ
रंजिश ही सही…

माना के मोहब्बत का छुपाना है मोहब्बत
चुपके से किसी रोज़ जताने के लिए आ
रंजिश ही सही…

जैसे तुम्हें आते हैं ना आने के बहाने
ऐसे ही किसी रोज़ न जाने के लिए आ
रंजिश ही सही…

पहले से मरासिम ना सही फिर भी कभी तो
रस्म-ओ-रहे दुनिया ही निभाने के लिये आ
रंजिश ही सही…

किस किस को बताएँगे जुदाई का सबब हम
तू मुझ से खफा है तो ज़माने के लिये आ
रंजिश ही सही…