यारा YAARA Song Lyrics

YAARA Song Lyrics

Yaara Lyrics, from the movie 1921. This song is sung by Arnab Dutta and the movie was released in the year 2018. Music was composed by Harish Sagane and lyrics were penned by Shakeel Azmi.

Movie Details

Movie: 1921 

Singer/Singers: Arnab Dutta

Music Director: Harish Sagane

Lyricist: Shakeel Azmi

Year/Decade: 2018

Music Label: Zee Music Company

Song Lyrics in English Text

Yaara tu mujh mein yun basa
Mujh mein rahi na meri jagah
Faila hai tu meri rooh tak
Tujh mein hi main jeene laga

Tu ab mein hai
Tu hi baad mein
Tu hi rubaru
Tu hi yaad mein
Jitna tha main tera ho gaya
Apna bhi main na rahaa…

Yaara tu mujh mein yun basa
Mujh mein rahi na meri jagah
Faila hai tu meri rooh tak
Tujh mein hi main jeene laga

Tu neend bhi
Hai khwaab bhi
Hai aankh mein meri
Teri hi aag jal rahi
Hai raakh mein meri

Hansu teri khushi mein
Tere gham mein roun main
Tere hi saath jaagun main
Tujhi mein soun main

Jeena mera… marna mera…
Tu hi toh hai ab mera
Tu jo nahin kuch bhi nahin
Tu hi toh hai sab mera

Yaara tu mujh mein yun basa
Mujh mein rahi na meri jagah
Faila hai tu meri rooh tak
Tujh mein hi main jeene laga

Chale tu meri saans mein
Safar tera hoon main
Tu chhod ke na jaana mujh ko
Ghar tera hoon main

Rahega mere saath mujhse
Waada kar le tu
Aaj mujhse pyaar thoda
Zyada kar le tu

Tere bina kya hai mera
Tu hi toh jahaan mera
Meri zameen mera yaqeen
Tu hi aasmaan mera…

Yaara tu mujh mein yun basa
Mujh mein rahi na meri jagah
Faila hai tu meri rooh tak
Tujh mein hi main jeene laga

Tu ab mein hai
Tu hi baad mein
Tu hi rubaru
Tu hi yaad mein
Jitna tha main tera ho gaya
Apna bhi main na rahaa…

Yara tu mujhme yun basa
Mujhme rahi na meri jagah
Faila hai tu meri rooh tak
Tujhme hi main jeene laga

Song Lyrics in Hindi Text

यारा तू मुझ में यूँ बसा
मुझ में रही न मेरी जगह
फैला हैं तू मेरी रूह तक
तुझ में ही मैं जीने लगा

तू अब में हैं तू ही बाद में
तू ही रूबरू तू ही याद में
जितना था मैं तेरा हो गया
अपना भी मैं न रहा..

यारा तू मुझ में यूँ बसा
मुझ में रही न मेरी जगह
फैला हैं तू मेरी रूह तक
तुझ में ही मैं जीने लगा

तू नींद भी हैं ख्वाब भी
है आँख में मेरी
तेरी ही आग जल रही
है राख में मेरी

हंसु तेरी ख़ुशी में तेरे
गम में रोऊँ मैं
तेरे ही साथ जागूँ मैं
तुझ ही में सोऊँ मैं

जीना मेरा मरना मेरा
तू ही तो है अब मेरा
तू जो नहीं कुछ भी नहीं
तू ही तो है सब मेरा

यारा तू मुझ में यूँ बसा
मुझ में रही न मेरी जगह
फैला है तू मेरी रूह तक
तुझ में ही मैं जीने लगा

हो हो..

चले तू मेरी सांस में
सफर तेरा हूँ मैं
तू छोड़के न जाना मुझ को
घर तेरा हूँ मैं

रहेगा मेरे साथ मुझसे
वादा कर ले तू
आज मुझ से प्यार थोड़ा
ज़्यादा कर ले तू

तेरे बिना क्या हैं मेरा
तू ही तो जहाँ हैं मेरा
मेरी ज़मीन मेरा यकीन
तू ही आसमां मेरा..

यारा तू मुझ में यूँ बसा
मुझ में रही न मेरी जगह
फैला हैं तू मेरी रूह तक
तुझ में ही मैं जीने लगा

तू अब में हैं तू ही बाद में
तू ही रूबरू तू ही याद में
जितना था मैं तेरा हो गया
अपना भी मैं न रहा..

यारा तू मुझ में यूँ बसा
मुझ में रही न मेरी जगह
फैला हैं तू मेरी रूह तक
मुझ में ही मैं जीने लगा