काल काल Kaal Kaal song lyrics

Kaal Kaal song lyrics

काल काल Kaal Kaal song lyrics in Hindi from the movie Laal Kaptaan(2019) starring Saif Ali Khan, Manav Vij, Zoya Hussain, Deepak Dobriyal. The film was released on the year 2019. Music was composed by Samira Koppikar and lyrics were penned by Sahib. Song Sung by by Samira Koppikar.

Movie Details

Movie: Laal Kaptaan

Singer/Singers: Neha Kakar, Darshan Raval, Sachin – Jigar

Music Director: Samira Koppikar

Lyricist: Sahib

Actors/Actresses: Saif Ali Khan, Manav Vij, Zoya Hussain, Deepak Dobriyal

Year/Decade: 2019

Music Label: Eros Now

Song Lyrics in English Text

Kaal kaal, kaal kaal, jo sapaat chal raha
Wo Kaal kaal, kaal kaal hai
Kaal kaal, kaal kaal, jo sapaat chal raha
Wo Kaal kaal, kaal kaal hai

Gol gol duniya mein
Gol gol sadiyon se chal rahi
Woh ek hi mashaal hai

Kaal kaal, kaal kaal, jo sapaat chal raha
Wo Kaal kaal, kaal kaal hai
Kaal kaal, kaal kaal, jo sapaat chal raha
Wo Kaal kaal, kaal kaal hai

Aadmi toh bandar sa
Banke par sikandar sa
Aadmi toh bandar sa, banke par Sikandar sa
Neetiyon ka dambh roz bharta hai
Pal mein ek peedhi hai
Umra ek seedhi hai
Chadhta roz roz hi phisalta hai

Par aham mein jeeta hai
Kis vaham mein jeeta hai
Rakt mein kyun uske ye ubaal hai

Kaal kaal, kaal kaal, jo sapaat chal raha
Wo Kaal kaal, kaal kaal hai
Kaal kaal, kaal kaal, jo sapaat chal raha
Wo Kaal kaal, kaal kaal hai

Khatm na hoti hai teri ye laalsa
Jaane ka samay tu bhale hai taalta
Karega kya murjhati iss khaal ka
Bas mein na hai sab khel hai kaal ka
Saaya hai kaal ka saare bramhaand mein
Teer vinash ka uske kamaan mein
Deta woh bhar hai saansein wo praan mein
Pratyaksh khada hai uske pramaan mein

Wo ajar hai, wo amar hai
Wo anaadi ant hai
Granth saare, dharm saare
Uska hi shadyantra hai
Gada hai chaatiyon mein…
Samay ka shool hai
Usko bhoolna, bhool hai, bhool hai..

Sab isi ke maare hai
Sab isi se haare hai
Isko jeet le wo mahakaal hai

Kaal kaal, kaal kaal, jo sapaat chal raha
Wo Kaal kaal, kaal kaal hai
Kaal kaal, kaal kaal, jo sapaat chal raha
Wo Kaal kaal, kaal kaal hai

Song Lyrics in Hindi Font

काल काल काल काल
जो सपाट चल रहा
वो काल काल काल काल है
काल काल काल काल
जो सपाट चल रहा
वो काल काल काल काल है

गोल गोल दुनिया में
गोल गोल सदियों में चल रही
वो अक ही मशाल है

काल काल काल काल
जो सपाट चल रहा
वो काल काल काल काल है
काल काल काल काल
जो सपाट चल रहा
वो काल काल काल काल है

आदमी तो बन्दर सा
बनके पर सिकंदर सा
आदमी तो बन्दर सा
बनके पर सिकंदर सा
नीतियों का दंभ रोज़ भरता है
पल में एक पीढ़ी है
उम्र एक सीढ़ी है
उम्र एक सीढ़ी है
चढ़ता रोज़ रोज़ ही फिसलता है

पर अहम् में जीता है
किस वहां में जीता है
रक्त में क्यूँ उसके ये उबाल है

काल काल काल काल
जो सपाट चल रहा
वो काल काल काल काल है
काल काल काल काल
जो सपाट चल रहा
वो काल काल काल काल है

ख़त्म ना होती है तेरी ये लालसा
जाने का समय तू भले है टालता
करेगा क्या मुरझाती इस खाल का
बस में ना है सब खेल है काल का
साया है काल का सारे ब्रह्माण्ड में
तीर विनाश का उसके कमान में
देता वो भर है साँसे वो प्राण में
प्रत्यक्ष खड़ा है उसके प्रमाण में

वो अजर है वो अमर है
वो अनादी अंत है
ग्रन्थ सारे धर्म सारे
उसका ही षड़यंत्र है
गाड़ा है छातियों में
समय का शूल है
उसको भूलना भूल है भूल है

सब इसी के मारे है
सब इसी से हारे है
इसको जीत ले वो महाकाल है

काल काल काल काल
जो सपाट चल रहा
वो काल काल काल काल है
काल काल काल काल
जो सपाट चल रहा
वो काल काल काल काल है

Note: For any mistake in Lyrics kindly let us know !!

Tags: